UPSC Mains : आधुनिक भारत का इतिहास

आधुनिक भारत का इतिहास

 

नमस्कार और आपका स्वागत हैं UPSC CSE वेबसाइट पर. और आज हम सिविल सेवा के मुख्य परीक्षा के पेपर १ में से आधुनिक भारत का इतिहास इस विषय के बारें में देखेंगे. इस में हम सिलेबस देखेंगे हिंदी और इंग्लिश में बाद में हम सिलेबस का विश्लेषण करेंगे और बाद में  कौनसी पुस्तोकों से इस विषय को पढ़ना चाहिए ये देखेंगे.

तो चलिए शुरू करते हैं ..!

ये जो आधुनिक भारत का इतिहास हैं १८५० से लेकर आज तक का हैं  और इसका सिलेबस सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के पेपर १ में निम्नलिखित सिलेबस दिया हैं.

आधुनिक भारतीय इतिहास

18 वी सदी के लगभग मध्य से लेकर वर्तमान समय तक का आधुनिक भारतीय इतिहास- महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यक्तित्व, विषय.

स्वतंत्रता संग्राम -इसके  विभिन्न चरण और देश के विभिन्न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले  महत्वपूर्ण व्यक्ति/ उनका योगदान.

स्वतंत्रता के पश्चात देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन.

Modern Indian History

Modern Indian history from about the middle of the eighteenth century until the present- significant events, personalities, issues

The Freedom Struggle – its various stages and important contributors /contributions from different parts of the country.

Post-independence consolidation and reorganization within the country.

सिविल सेवा के प्रारंभिक परीक्षा इतिहास का सिलेबस हैं उसमें भारत का इतिहास हैं वह  प्राचीन भारत का इतिहास हैं, मध्यकालीन भारत का इतिहास हैं और साथ ही साथ आधुनिक भारत इतिहास भी हैं मतलब भारत का इतिहास पूर्ण हैं लेकिन जब मुख्य परीक्षा की बात की जाये तो इसमें बस आधुनिक भारत का इतिहास हैं और इसमें क्या क्या हैं वह इस सिलेबस में दिया हैं जैसे की भारत का इतिहास 18 वी सदी के लगभग मध्य से लेकर वर्तमान समय तक हैं तो इन सबका अभ्यास हमको करना हैं.

तो पहले टॉपिक में बताया हैं की १८५० से लेकर वर्तमान तक का इतिहास हमें पढ़ना हैं और उसमें भी सबकुछ नहीं पढ़ना हैं उन्होंने बताया हैं की घटनाएँ, व्यक्ति और विषय के बारे में वो लोग पूछेगें और ये कैसे हमको समजेगा ? तो इसके लिए हम प्रश्न देखेंगे उनके जिससे हमको पता चलेगा.

दुसरे टॉपिक में उन्होंने बोला हैं की स्वतंत्रता संग्राम -इसके  विभिन्न चरणों के बारे में और देश के विभिन्न भागों से क्या क्या हुआ और किया वह और वह किन किन लोगों ने किया इसके बारे में प्रश्न पूछे जायेंगे.

और जो तीसरा टॉपिक हैं वह हैं स्वतंत्र भारत के बाद का समय जिसमें वो लोग देश को कैसे एक किया इसके बारें में पूछेंगे.

तो ये हुआ सिविल सेवा परीक्षा के मुख्य परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर १ के इतिहास विषय का सिलेबस.

अभी ये जो इतिहास जो भारत का इतिहास है ये इतना ज्यादा नहीं हैं की आपको इसे और पढ़ना पड़ेगा जैसे की विश्व का इतिहास क्योंकि, विश्व का इतिहास प्रारंभिक परीक्षा में नहीं हैं लेकिन मुख्य परीक्षा में हैं लेकिन ये आधुनिक भारत का इतिहास सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में भी हैं और मुख्य परीक्षा में भी हैं तो ये विषय आप प्रारंभिक परीक्षा के लिए पढोगे लेकिन मुख्य परीक्षा में आपको लिखना होगा जो की कठिन हैं.

अब इस विषय के लिए कौनसे पुस्तकों का इस्तेमाल करना चाहिए.?

वैसे हमने उपर देखा की ये कोई नया नहीं हैं मुख्य परीक्षा में इसकी और प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी एक साथ हो जाती हैं. बुक्स तो चाहिए उतने हैं बस पढ़ना ज़रुरी हैं. इस विषय के लिए आप एक तो पहले NCERT पढेंगे और बाद में स्टैण्डर्ड पुस्तकें जो सब लोग इस्तेमाल करते हैं. जैसे की विपिन चन्द्र का India’s Struggle For Independence. और भी पुस्तकें हैं जैसे की plassey to partition. जो की शंकर बंधोपाध्याय की पुस्तक हैं..

इसके बाद हम अगला विषय देखेंगे विश्व का इतिहास जल्द ही.

यहाँ 5 Star दे !
[Total: 0 Average: 0]

You May Also Like

About the Author: UPSC

Leave a Reply