UPSC Mains : भारतीय विरासत और संस्कृति

Introduction

मुझे ये समज में नहीं आता हैं की संघ लोक सेवा आयोग ने ये विषय सबसे पहले क्यों रखा ? देखने से लगता हैं की इसकी जगह यही हैं और नहीं तो कहा रखेंगे इस विषय को ? आपको पता हैं या नहीं लेकिन इस विषय से जो प्रश्न आते हैं वह बहोत कठिन होते हैं अगर आप इस विषय के विद्यार्थी नहीं हो तो.

आज हम इसी विषय के बारें में देखने वाले हैं जिसका नाम हैं भारतीय विरासत और संस्कृति. तो हम देखेंगे की ये विषय क्या हैं? इसका सिलेबस क्या हैं ? इस विषय पर संघ लोक सेवा आयोग ने कौनसे प्रश्न पूछे हैं? फिर हम थोड़ी चर्चा करेंगे सिलेबस के पॉइंट्स की और देखेंगे की इसकी तैयारी कैसी की जा सकती हैं? और कुछ पुस्तकों को के बारे में देखेंगे.

आज यहां हम सिविल सेवा परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर १ के भारतीय विरासत और संस्कृति के बारें में देखेंगे

तो पहले देखते हैं की भारतीय विरासत और संस्कृति विषय का सिलेबस क्या हैं सिविल सेवा परीक्षा में.

भारतीय विरासत और संस्कृति/Indian Heritage and Culture

हिंदी :भारतीय संस्कृति  में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप, साहित्य  और वास्तुकला के मुख्य पैलू शामिल होंगे.

English: Indian culture will cover the salient aspects of Art Forms, Literature and Architecture from ancient to modern times.

Questions Asked by Commission/ आयोग ने पूछे हुए प्रश्न

तो प्रश्नों का जो स्तर हैं उसे देखने के लिए हम जो अभी अभी परीक्षा हुई हैं उसके प्रश्न लेंगे और अगर कोई विषय विषय से २०१६ के परीक्षा में प्रश्न नहीं पूछे गए हैं तो हम २०१५ से लेंगे और वहा भी वहा से भी नहीं पूछे होंगे तो हम २०१४ से लेंगे और वहा भी नहीं पूछे होंगे तो UPSC वालों इस विषय का सिलेबस क्यों दिया अगर प्रश्न ही नहीं पूछने हैं तो.

प्रश्न हम हिंदी और इंग्लिश दोनों में देखंगे और उसका थोडा थोडा विश्लेषण करेंगे.

तो सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर १ के भारतीय विरासत और संस्कृति विषय में निचे दिए गए प्रश्न पूछे हैं.

सिविल सेवा परीक्षा २०१६ में इस विषय में से २ प्रश्न पूछे गए हैं वह हैं :

प्रारंभिक बौद्ध स्तुप-कला, लोक वर्ण्य-विषयों एवं कथानकों को चित्रित करते हुए बौद्ध आदर्शों की सफलतापूर्वक व्याख्या करती हैं | विशदी करण कीजिये|

Early Buddhist Stupa-art, While Depicting folk motifs and narratives successfully expounds Buddhist ideals. Elucidate.

विजय नगर नरेश कृष्णदेवराय न केवल स्वयं एक कुशल विद्वान थे अपितु विद्या एवं साहित्य के महान सरंक्षक भी थे | विवेचना कीजिये |

Krishnadeva Raya, the King of Vijayanagara , was not only an accomplished  scholar himself but was also a great patron of learning and literature. Discuss.

तो ये प्रश्न २०१६ में इस विषय में टपक पड़े और हमनें देखा की क्या हुआ. आपको पता नहीं हैं लेकिन बता देता हूं मैंने सामान्य अध्ययन के इस पेपर में सबसे ज्यादा गुण १५५ देखें हैं २५० मैं से २०१५ की परीक्षा में और वह शक्श लड़की थी. मेरा कहने का मतलब ये हैं की आप १५५ गुण ला सकते हैं २५० में से.

तो आपको क्या लगता हैं ? कहा बैठते हैं ये प्रश्न उपर वाले सिलेबस में.

तो सिलेबस में हमे कला, साहित्य और वास्तुकला हैं तो १ ला प्रश्न देखा जाये तो वह वास्तुकला के साथ जुड़ा हुआ हैं लेकिन उसमें जो लिखने के लिए बोला हैं वह कुछ अलग ही हैं. और आप को एक बात याद रखनी होगी की प्रश्न तो सिंपल से दिखते हैं लेकिन जो लास्ट में एक शब्द हैं जिसे कीवर्ड बोलते हैं उसका महत्त्व सबसे ज्यादा हैं क्योंकि वही आपको बताएगा की लिखना क्या हैं इस प्रश्न में. तो १ ले प्रश्न में जो शब्द हैं वह हैं विशदीकरण जिसका अर्थ आपको आना चाहिए और इंग्लिश में उसे Elucidate बोलते हैं जिसका अर्थ हैं Elucidate refers to making statement plain. In fact you have to explain it in such a way that it becomes intelligible.

मतलब आपको यहां लिखना हैं सिंपल से लेकिन वह intelligible लग जाये. तो इस प्रश्न में हमें बुद्ध के आदर्श कैसे और कहा दिखाए गए हैं इसका एक या दो उदाहरण लेके लिखना हैं वह भी २०० शब्दों में और ऊपर से उसे अच्छे से समापन भी करना हैं अच्छे जानकारी के साथ.

प्रश्न क्रमांक २ में हमको एक राज्य के राजा के बारें में चर्चा करने को बोली हैं उसे बोला हैं विवेचना. ये प्रश्न साहित्य के बारें में भी बोलता हैं उसकी ही विवेचना करनी हैं कुछ तथ्यों के साथ जो की उसकी समर्थन भी और असमर्थन भी करते हैं ऐसे को मिला जुलाकर इस प्रश्न को हल करना हैं.

धीरे धीरे हम सब प्रश्न विषय नुसार देखेंगे और और उसके उत्तरों पर भी थोडा ध्यान देंगे. लेकिन हमें विषय को समजना हैं इसलिए हम प्रश्न को समजेंगे और क्या हैं प्रश्न वह समजेंगे.

Explanation of Topic

तो ये जो विषय हैं उसका पाठ्यक्रम बस एक ही लाइन में दिया हैं लेकिन उसका दायरा देखा जाये तो बहुत ही ज्यादा हैं जो की आप सोच नहीं पाओगे.

तो भारतीय विरासत और संस्कृति के सिलेबस में दिया हैं की प्राचीन काल से लेकर आधुनिक काल तक कला के रूप, साहित्य और वास्तुकला के मुख्य पैलू के बारें में प्रश्न पूछे जायेंगे मतलब. अगर हम कला में देखे तो उसमें जो सब कुछ आता हैं जो कला हैं जैसे की डांस, नाटक,पेंटिंग ऐसे बहोत कुछ हैं. साहित्य में तो देखो मत इतना साहित्य हैं जिसमें से कुछ भी पूछा जा सकता हैं जैसे की आप लिटरेचर के पेपर्स देखते हैं उनमें जो साहित्य के प्रकार होते हैं उनमें से भी एक दो को पूछा हैं लेकिन आप वह देखने जाओगे तो नहीं होगा तो जितना हो सकता हैं उतना देखना चाहिए. और वास्तुकला कला के मुख्य पैलू का मतलब उनसें जुडी हुई चीजे जैसे की हमने देखा प्रश्न १ में बुद्ध के बारें में जो पूछा हैं वह इसी प्रकार का प्रश्न हैं.

Books for Preparation

तो इसकी तैयारी कैसे की जाये ये बड़ा कठिन काम हैं तो इसकी तैयारी आप ११ वी का एक पुस्तक हैं NCERT का इस टॉपिक पर तो उसीका उपयोग करो साथ ही साथ CCRT के वेबसाइट में भी सब हैं वह देखो. इतना सब अच्छे से देखो बाद में जो एका दूका मिलेगा और आपको लगेगा उसको देखो और IGNOU के साईट पर भी देखो वहा भी हैं. पुस्तकों की कमी नहीं हैं लेकिन ये सब इंग्लिश में हैं यही तो एक समस्या हैं. और तो और हमको अंग्रेजी तो आणि चाहिए सामान्य सी जैसे थोडा कुछ बोल सके , समज सके, लिख सके इत्यादि, नहीं तो प्रश्न भी समज में नहीं आएगा. ऐसे प्रश्न होते हैं . शब्दों के लिए डिक्शनरी का उपयोग कीजिये धीरे धीरे हो जाएगा.

धन्यवाद !

इसके बाद हम आधुनिक भारत के इतिहास के बारे में देखेंगे. जल्द ही.

यहाँ 5 Star दे !
[Total: 0 Average: 0]

You May Also Like

About the Author: UPSC Civil Services Exam

7 Comments

    1. विषय के टॉपिक्स बहोत सारे हैं… जैसे अगर कला के बारें में देखा जाए तो उसमें डांस आते हैं उसमें भी बहोत सारे प्रकार आते हैं वह सब. और तो और पेंटिंग भी कला में आता हैं तो वह भी और भी बहोत सारे विषय हमें निकालने हैं .. और उसकी जानकारी प्रश्न पत्र देखने से होती हैं.

Leave a Reply